Toilet Etiquette (Manusmriti Vishnupuran – 1500 B.C. India)

Toilet Etiquette (Manusmriti Vishnupuran – 1500 B.C. India)

Toilet Etiquette (Manusmriti Vishnupuran – 1500 B.C. India) – This photo was taken at Sulabh International Museum of Toilets situated at Sulabh Gram, Mahavir Enclave, Palam-Dabri Road, New Delhi.

शौचालय शिष्टाचार

Manusmriti Vishnupuran – 1500 B.C. India

विवाहित लोगों के लिए कोड

शौच के लिए जाने से पहले निम्नलिखित मंत्र का जाप करना चाहिए

गच्छन्तु ऋषिओ देवे:
पिशाच ये च गृह्यक:
पितृभुत्गण सर्वे,
करिष्ये मलमोचनम्:

शौच के लिए जाने से पहले जनेऊ को छोटा करके घुमाकर दाहिने कान पर डालने का विधान था।

सिर को कपड़े से ढकना था। कपड़े के अभाव में जनेऊ को सिर के ऊपर से लाकर बायें कान पर लटकाना पड़ता था।

फिर मौन रहकर दिन में उत्तर की ओर तथा रात्रि में दक्षिण की ओर मुख करके शौच करना चाहिए।

शौच करते समय पानी को नहीं छूना चाहिए।

शौच के बाद पानी का बर्तन दाहिने हाथ से पकड़ना होता था और सफ़ाई के लिए बाएँ हाथ का उपयोग करना होता था।

(English to Hindi Translation by Google Translate)

Leave a Comment

+ 20 = twenty three